IAS Ravi Kumar sihag success story: किसान के बेटेने 4 मेसे 3 बार क्लियर किया upsc ओर बन गए ias ऑफिसर , जाने उनकी सफलता की कहानी

IAS Ravi Kumar sihag success story

IAS Ravi Kumar sihag success story:राजस्थान राज्य के श्रीगंगा नगर जिले के रहने वाले आईएएस ऑफिसर रवि कुमार सिहाग करोड़ भारतीय युवाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत बने हुए हैं। हिंदी मीडियम से पढ़ाई करने वाले रवि कुमार सिहाग ने हिंदी मीडियम उम्मीदवारों के लिए एक मिसाल से काम नहीं है।

ज्यादा युवाओं को यह लगता है की अंग्रेजी मीडियम से पढ़ाई करने के बाद ही यह यूपीएससी परीक्षा निकलती है या आसान होती हैं, लेकिन रवि कुमार सिहाग ने हिंदी मीडियम से पढ़ाई करते हुए इस परीक्षा में 3 बार सफल हुए हैं।

इसके साथ ऐसा सोचने वाले युवाओं को भी गलत साबित कर दिया है। अपनी मेहनत और लगन से रवि कुमार सिहाग अभी एक आईएएस के पद पर हैं। तो आई इसलिए के द्वारा हम रवि कुमार सिहाग के जीवन के बारे में जानते हैं और साथ उनकी सक्सेस स्टोरी को भी विस्तार से पढ़ते हैं।

आईएएस रवि कुमार सिहाग की प्रारंभिक जीवन।

रवि कुमार सिहाग का जन्म 2 नवंबर 1995 को राजस्थान राज्य के श्रीगंगानगर जिले में हुआ था। रवि कुमार सिहाग के पिता का नाम राजकुमार सियाग है, जो पैसे से एक किसान है। वहीं उनकी मां का नाम विमला देवी है, जो एक ग्रहणी है।

अपने ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरा करते वक्त रवि हमेशा अपने पिता की मदद खेतों में किया करते थे। रवि शुरू से ही अपनी भूमि से हमेशा जुड़े हुए हैं। अपने घर में रवि कुमार सिहाग तीन बहनों में इकलौते भाई है।

आईएएस रवि कुमार सिहाग की शिक्षा।

रवि कुमार सिहाग ने अपनी पूरी पढ़ाई हिंदी मीडियम से की है। रवि ने अपनी कक्षा सातवीं तक की पढ़ाई बीएएम विजयनगर श्रीगंगानगर के मनमोहन सर के स्कूल सरस्वती विद्या मंदिर से की है। इसके बाद इन्होंने अपनी 11वीं कक्षा की पढ़ाई अनूपगढ़ के शारदा स्कूल से की है।

वही अपनी 12वीं कक्षा की पढ़ाई इन्होंने विजयनगर के एक सीनियर अकैडमी स्कूल से की है। रवि कुमार सिहाग ने अपनी बीए की डिग्री अनूपगढ़ के शारदा कॉलेज से ही प्राप्त की है।

आईएएस रवि कुमार सिहाग की UPSC जर्नी।

आईएएस रवि कुमार सिहाग ने अपने जीवन में कुल चार बार यूपीएससी की परीक्षा दी है। जिनमें से तीन बार यह सफल हो गए थे। रवि ने सबसे पहली बार साल 2018 में अपना पहला यूपीएससी परीक्षा दिया था जिसमें इन्हें 337 में रैंक व भारतीय रक्षा लेखा सेवा कैंडल मिला था।

इसके बाद 2019 के दूसरे प्रयास में इन्हें 317वीं रैंक व भारतीय रेल यातायात सेवा कैडर मिला था। वहीं तीसरे अटेम्प्ट यानी साल 2020 में रवि मुख्य परीक्षा भी पास नहीं कर पाए थे। इसके बाद अपनी चौथी और फाइनल अटेम्प्ट साल 2021 में इन्होंने आठवीं रैंक प्राप्त की थी।

यह भी पढे: एक ही परिवार में है 11 IAS/ IPS अफसर , जानिए इस परिवार की सफलता की कहानी

यूपीएससी परीक्षा हिंदी टॉपर

आईएएस रवि कुमार सिहाग ने अपनी चौथी अटेम्प्ट यानी साल 2021 की यूपीएससी परीक्षा में 18वीं रैंक हासिल की थी। लेकिन इनके आगे शुरुआती 17 रैंक वाले उम्मीदवार सभी अंग्रेजी मीडियम के थे।

वही रवि कुमार सिहाग हिंदी मीडियम के उम्मीदवार थे और इनका रैंक 18वां था। इस हिसाब से रवि कुमार सिहाग upsc परीक्षा 2021 में हिंदी मीडियम के टॉपर विद्यार्थी थे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top