Tata Technologies IPO | Tata Tech ने किया बड़ा एलान 22 नवंबर को सदस्यता के लिए खुलेगा आईपीओ , tata moters के शेयर धारक होंगे माला माल…

tata technologies ipo: tata technologies limited का शुरुआती सार्वजनिक IPO 22 नवंबर को निवेशकों के लिए सदस्यता के लिए खुलेगा और 24 नवंबर, 2023 को बंद होगा , यह बयान इसकी मूल कंपनी  tata moters limited ने एक एक्सचेंज फाइलिंग के दौरान कहा था।

Tata Technologies IPO

Tata Technologies IPO के बारे में 

tata technologies limited के मौजूदा शेयरधारक जैसे की टाटा कैपिटल ग्रोथ फंड I, और अल्फा टीसी होल्डिंग्स पीटीई लिमिटेड, कंपनी में क्रमशः 1.2% और 2.4% हिस्सेदारी बेचेंगे। मूल कंपनी टाटा मोटर्स कंपनी में अपनी कुल हिस्सेदारी का 11.41% शेयर या फिर 4.62 करोड़ शेयर धारको मैं बेचेगी। टाटा मोटर्स द्वारा बेचे गए ईश शेयरों की संख्या उसके ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीआरएचपी) के अनुसार शुरुआत में बेचने की योजना वाले 8.1 करोड़ शेयरों का लगभग 50% है।

आईपीओ का 10% हिस्सा हिंदू अविभाजित परिवारों (एचयूएफ) और व्यक्तियों सहित टाटा मोटर्स के शेयरधारकों के लिए रिजेर्व किया जाएगा।
हालांकि टाटा मोटर्स ने ₹7.4 प्रति शेयर पर अपनी हिस्सेदारी हासिल की थी, टाटा कैपिटल ग्रोथ फंड और अल्फा टीसी होल्डिंग्स ने ₹25.1 प्रति शेयर पर अपनी-अपनी हिस्सेदारी सांजा की थी। कंपनी की पिछले साल 2022 की वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक, टाटा मोटर्स के पास टाटा टेक्नोलॉजी में 74.42% हिस्सेदारी थी।

हालांकि आईपीओ का कोई भी प्राइस बैंड अभी तक तय नहीं किया गया है।

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज यानिकी (टीसीएस) के बाद लगभग 20 साल में यह टाटा टेक्नोलॉजी का पहला टाटा समूह आईपीओ होगा।
पिछले सितंबर महीने में, कंपनी ने दलाल स्ट्रीट से जुड़ी कंपनी में 9.9% हिस्सेदारी टीपीजी राइज क्लाइमेट को ₹1,613.7 करोड़ में बेचने की घोषणा की थी। इसने टाटा टेक्नोलॉजीज के लिए ₹16,300 करोड़ का इक्विटी मूल्यांकन निर्धारित किया।

टाटा टेक्नोलॉजीज कंपनी के बारे में

भारत की प्रमुख कंपनियों मेंसे एक टाटा टेक्नोलॉजीज वैश्विक इंजीनियरिंग सेवा कंपनी है जो वैश्विक स्तर पर ओईएम और उनके टियर-I countries के आपूर्तिकर्ताओं को टर्नकी समाधान सहित उत्पाद विकास और डिजिटल समाधान प्रदान करती है।
ईश कंपनी मैं 9,300 से ज्यादा कर्मचारी कार्यरत हैं और टाटा मोटर्स और जेएलआर इसके कैप्टिव ग्राहक हैं। वित्तीय वर्ष 2022 के लिए, कंपनी ने 46 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की, जो उसके इतिहास में सबसे मजबूत पहेलु है।
कंपनी परिवहन निर्माण, एयरोस्पेस और भारी मशीनरी उद्योगों जैसे निकटवर्ती उद्योगों को भी अपनी सेवाएं प्रदान करती है।

टाटा टेक्नोलॉजी ने पिछले वित्तीय वर्ष में सालाना आधार पर 46 प्रतिशत की अपनी उच्चतम राजस्व वृद्धि दर्ज की।

ईश 2023 के पहले नौ महीनों में कंपनी का शुद्ध लाभ पिछले साल के मुक़ाबले दुगना हुआ है । ऑपरेटिंग मार्जिन में भी लगभग 300 आधार अंकों का विस्तार होकर 19.2 प्रतिशत हो गया है।

जोखिम

टाटा टेक्नोलॉजीज के कुछ प्रमुख जोखिम कारक

शिक्षा व्यवसाय में प्रवेश

टाटा टेक्नोलॉजीज ने योग्यता केंद्र और पाठ्यक्रम विकास की पेशकश के माध्यम से सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के शैक्षणिक संस्थानों में विनिर्माण प्रौद्योगिकियों और नवीनतम इंजीनियरिंग को उन्नत और पुन: कुशल बनाकर iGetIT प्लेटफॉर्म के माध्यम से शिक्षा व्यवसाय में अपनी पेशकश का विस्तार किया है।
कंपनी इस प्रयास के पीछे उद्यम ग्राहकों में विस्तार को तर्क बताती है। कंपनी की ज़्यादातर वर्तमान परियोजनाएँ विभिन्न राज्य सरकारों और सार्वजनिक विश्वविद्यालयों के पास हैं।
कंपनी ने अपने (डीआरएचपी) में लिखा है, “हालांकि हम अपनी फीस का पूरा या बड़ा हिस्सा अग्रिम रूप से प्राप्त करने का प्रयास करते हैं, लेकिन हम सफल नहीं हो सकते हैं और फिर भी सरकारी संस्थानों के साथ प्रतिपक्ष डिफ़ॉल्ट जोखिम का सामना कर सकते हैं।”

ग्राहक एकाग्रता

कंपनी का अधिकांश राजस्व शुद्ध लाभ उसके अग्रणी पांच ग्राहकों या फिर विशेष रूप से एंकर ग्राहकों से प्राप्त होता है। शीर्ष पांच शेयर धारको का हिस्सा विनफास्ट नामक ग्राहक से भी आता है, जो करिबंध 2018 से कंपनी के ग्राहक है। यही ग्राहकों के साथ ही अधिकांश सेवा समझौते आमतौर पर 3-5 साल के बीच में होते हैं।

एंकर क्लाइंट-जगुआर लैंड रोवर और टाटा मोटर्स ने चालू वित्तीय वर्ष के सितंबर महीने के भीतर टाटा टेक्नोलॉजीज में लगभग 40% का योगदान दिया। पिछले पूरे वर्ष में यह संख्या 42.76 प्रतिशत ही थी।
डीआरएचपी के रिपोर्ट के अनुसार, मुख्य पांच ग्राहकों में से किसी एक भी ग्राहक की वित्तीय स्थिति में गिरावट आनेसे कंपनी के लाभ में भारी नुकसान दिख सकता है।

रुपया एक्सपोजर

टाटा टेक्नोलॉजी का लगभग तीन-चौथाई लाभ सिंगापुर डॉलर , यूरो, ब्रिटिश पाउंड, युआन,और स्वीडिश क्रोना ओर अमेरिकी डॉलर, जैसी अन्य मुद्राओं से आता है। साल 2022 के पहले नौ महीनों में यह आंकड़ा 65.1 प्रतिशत था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top